आदर्श रणनीति

कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग

कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग

कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग


फॉरेक्स मार्केट में ट्रेडिंग करना एक ऐसा व्यापार है जो दुनिया में सबसे बडे (यानी आखिरी) और अधिक पैमाने में किया जाने वाला अनियमित/अनियंत्रित कैपिटल (पूंजी)बाजारों (मार्केट्स)में से एक है। हैरानी की बात है कि फॉरेक्स मार्केट का कोई भौतिक (फिजिकल) पता ठिकाना नहीं है जैसा की स्टॉक या कमोडिटी एक्सचेंज का होता है और यहाँ सोमवार से शुक्रवार तक 24 घंटे रात दिन ट्रेडिंग होता है।

और आगे भी, जबतक की आप करेंसी वायदा (फ्यूचर्स) या ऑप्शन्स ( विकल्प) शिकागो मर्केंटाइल एक्सचेंज पर या करेंसी ऑप्शन्स फ़िलेडैल्फ़िया ऑप्शन्स एक्सचेंज पर ट्रेडिंग नहीं करते, तब तक सभी फॉरेन एक्सचेंज ट्रेडिंग के बड़े हिस्से/भाग का व्यवहार टेलीफोन और इलेक्ट्रॉनिक कम्युनिकेशन्स (संचार) नेटवर्क या ECNs पर पूरी तरह से विकेन्द्रीकृत (डीसेंट्रलाइज्ड) तरीके से ही होता है।

फॉरेक्स मार्केट में बड़े पैमाने में और मात्रा में ट्रेडिंग होने के बावजूद भी, यह बहुत बड़े पैमाने में अनियंत्रित है किसी भी अंतरराष्ट्रीय संगठन या एजेंसी की देख रेख के बिना इंटरबैंक में ट्रेडिंग की गतिविधियाँ चल रहीं है और पूरी दुनिया में फ़ैली है।

क्या इसका अनियमित/अनियंत्रित होना ट्रेडर्स के लिए ऐसा है की वें (ट्रेडर्स) उन रणनीतियों की संख्या से लाभ उठाएं जिन्हें अब अन्य अधिक उच्चतर विनियमित बाजारों जैसे की स्टॉक और कमोडिटी मार्केट्स में लागू नहीं किया जा सकता है।


फिर भी , फॉरेक्स मार्केट का यह अपेक्षाकृत अनियमित /अनियंत्रित प्रकृति (नेचर) होना भारी संख्या में फॉरेक्स घोटालों और धोखाधड़ी के लिए उपजाऊ जमीन तैयार करता है जिन्हें कई देशों में कुछ संगठन उजागर करने और मुकदमा चलाने के लिए प्रतिबद्ध है।


फोरेक्स मार्केट पर अभी तक किसीभी तरह की केंद्रीकृत मुख्य संस्था का कोई अंकुश नहीं है। जब कि कुछ देशों में फोरेक्स के व्यापार के लिए और खास तौर पर फोरेक्स ब्रोकर्स के लिए कड़े नियम बनाए गए हैं।उनके पास ऐसी भी संस्थाएं है जो उनके देश में बिज़नेस करनेवाली कंपनियों को नियंत्रित करतीं है।

इन विनियमन (रेगुलेटिंग) संस्थाओं ने अपनी सीमाओं के भीतर धोखाधड़ी के अनेक मामलों में मुकदमें चलाए है और दंड दिलवाया है /सजा दिलवाई है, इनमें से सबसे प्रमुख फोरेक्स में धोखाधड़ी का पर्दाफाश होने वाली संस्थाएं (एजेंसीज) United States में उत्पन्न हुईं।

U. S. कमोडिटी फ्यूचर्स ट्रेडिंग कमीशन -

CFTC एक स्वतंत्र अमेरिकी सरकारी एजेंसी है जो अमेरिका स्थित और अमेरिका मैं व्यापार करनेवाली फॉरेक्स ब्रोकरेज कंपनियों की देखरेख करती है। इसके अलावा अमरीका के कमोडिटी (वस्तु) और फ्यूचर्स (वायदा) बाजार के आदान-प्रदान का विनियमन करती है, फोरेक्स मार्केट में धोखाधड़ी (कपटपूर्ण) की गतिविधियां करनेवाली कंपनियों पर यह एजेंसी अपने द्वारा बनाएं गए नियमों को लागू करना और कानूनी कार्यवाही करना और सजा दिलवाना यह काम भी करती है.

U. S. (अमेरिका) नेशनल फ्यूचर्स एसोसिएशन -

NFA (नेशनल फ्यूचर्स एसोसिएशन यह एक खुद विनियमन संस्था है अमरीका के फ्यूचर्स (वायदा)उद्योग जगत में।। NFA का मुख्य लक्ष्य अमरीकी मार्केट की अखंडता को बनाएं रखना और निवेशकों को धोखाधड़ी की गतिविधियों से बचाना हैं। मूल रूप से, क्योंकि स्पॉट करेंसी के लेनदेन के लिए दो दिनों का समय लगता है डिलीवरी (वितरण) के लिए बजाय कॅश के, इसे फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट के तौर पर भी देखा जा सकता है।। नतीजतन, ब्रोकर्स को फोरेक्स मार्केट में क्लाइंट्स के लिए लेनदेन करने के लिए कमोडिटी ट्रेडिंग एडवाइजर , फ्यूचर्स कमीशन मर्चेंट, इंट्रोड्यूसिंग ब्रोकर या कमोडिटी पूल ओपरेटर के तौर पर एक या ज्यादा अमरीकी एजेंसीज के साथ अमरीकी ग्राहकों के लिए फोरेक्स मुद्रा के लेनदेन को निष्पादित करने के लिए रजिस्टर्ड करवाना अनिवार्य है।



U. K. फिनांशल सर्विसेस अथॉरिटी --

FSA यह एक यूनाइटेड किंगडम के आर्थिक सेवा उद्योग जगत की प्रधान रेगुलेटर है और बहुत कुछ U. S. CFTC की तरह ही, अपने नियम U. K. के आर्थिक सेवा उद्योग जगत में लागू करती है और उन नियमों को तोड़ने पर और धोखाधड़ी के बर्ताव पर कानूनी कार्यवाही करती है और सजा भी दिलवाती है।

ऑस्ट्रेलियन सिक्योरिटीज एंड इन्वेस्टमेंट कमीशन --

ASIC यह एक ऑस्ट्रेलियन संस्करण है दोनों का CFTC और ब्रिटिश FSA का। यह आयोग नियंत्रित करता है ऑस्ट्रेलियन कैपिटल मार्केट, निगमों और आर्थिक सेवाओं को। ASIC दोनों नियामक प्राधिकरणों को CFTC और उसकी U. S. सिक्योरिटीज समकक्ष, द सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन या SEC का मिलाजुला रूप है।


स्विस पोलीरेग --

यह स्व नियामक बॉडी है U. S. के NFA की तरह।। यह संस्था जानी जाती है कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग स्विस फ़ेडरल मनी लॉन्ड्रिंग कंट्रोल अथॉरिटी के तहत जो नियंत्रण करती है लोगों को, व्यापार को, और कानूनी संस्थाएं जो आर्थिक मध्यस्थ की तरह काम करती है स्विट्ज़रलैंड में रहनेवालों (अधिवास )के लिए।


स्विस फ़ेडरल डिपार्टमेंट ऑफ फाइनांस (या फिनांस)--

यह स्विस गवर्नमेंट एजेंसी है जो नियंत्रण और देखरेख करती है आर्थिक संस्थानों की स्विट्जरलैंड में।

उपरोक्त नियामक एजेंसियों के अतिरिक्त, यूरोपियन संघ प्रत्येक सदस्य को अपने वित्तीय बाजारों के विनियमन के लिए जिम्मेदार मानता है, जो वित्तीय साधनों के निर्देश में E.U.'s के बाजारों के या MiFID अनुरूप है। यह "पासपोर्ट" विनियमित कंपनियों को अनुमति देता है एक E. U. सदस्य देश को दूसरे E. U. सदस्य देश के ग्राहकों को सेवा देने की।


एक फोरेक्स ब्रोकर जो रजिस्टर्ड और अच्छी स्थिति (साख)बनाए हुए हो NFA, CFTC या ऊपर जिन विनियमन एजेंसीज का उल्लेख किया गया है या इसीतरह का समान संगठन दूसरे E. U. देश में भी है यह एक सकारात्मक संकेत है।

यह ये दर्शाता है कि ब्रोकर काफी समय से व्यापार कर रहा है और अगर कंपनी किसी मुश्किल में होगी या कोई विवाद सामने आता है तो कुछ हद तक कानूनी सहारा मिल सकता है।

जगह की और विनियमन एजेंसीज की परवाह किये बिना, अच्छी तरह से नियंत्रित जगहों पर जैसे कि स्विट्जरलैंड या अमेरिका में भी फोरेक्स मार्केट में धोखाधड़ी हो सकती है। कुछ कंपनियां यह बताती है के वें मूल रूप से विनियमित देश से है लेकिन सच्चाई यह होती है कि इन कंपनियों का मूल अधिवास कहीं ओर का होता है।

जबकि कुछ तरह के नियंत्रण ने कुछ रकम का फोरेक्स फ्रॉड (धोखाधड़ी) रोक रखा है, जहाँ पैसा घूमता है उस जगह धोखाधड़ी होना यह जिंदगी की एक सच्चाई है और फोरेक्स मार्केट इसके लिए अपवाद नहीं है। ट्रेडिंग करने के लिए किसीभी ब्रोकर का चुनाव करने से पहले सावधानता पूर्वक अनुसंधान (रिसर्च) करके आश्वस्त बनिए।

Forex Trading को लेकर RBI से बड़ा अपडेट! 34 फॉरेक्स ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के नामों की लिस्ट हुई जारी, इनपर न करें ट्रेड

रिजर्व बैंक ने आज 34 ऐसे ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स की लिस्ट जारी की है जो बिना रिजर्व बैंक की मंजूरी के ट्रेडिंग करा रहे हैं. रिजर्व बैंक ने कहा है कि ऐसे प्लेटफॉर्म फॉरेक्स एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट या फिर इलेट्रॉनिक प्लेटफॉर्म ट्रेडिंग से जुड़े नियमों के तहत रिजर्व बैंक के पास रजिस्टर्ड नहीं है.

रिजर्व बैंक ने फॉरेक्स ट्रेडिंग के जरिए मुनाफा कराने वालों के बारे में लोगों को आगाह किया है. रिजर्व बैंक ने आज 34 ऐसे ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स की लिस्ट जारी की है जो बिना रिजर्व बैंक की मंजूरी के ट्रेडिंग करा रहे हैं. रिजर्व बैंक ने कहा है कि ऐसे प्लेटफॉर्म फॉरेक्स एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट या फिर इलेट्रॉनिक प्लेटफॉर्म ट्रेडिंग से जुड़े नियमों के तहत रिजर्व बैंक के पास रजिस्टर्ड नहीं है. रिजर्व बैंक के मुताबिक ये लिस्ट अभी के हिसाब से और इसमें अगर शिकायतें कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग आएंगी तो जांच के बाद लिस्ट की संख्या बढ़ भी सकती है. इसका मतलब ये भी नहीं है कि जिन प्लेटफॉर्म के नाम इस लिस्ट में नहीं हैं वो ऑथराइज्ड ही हैं. ऑथराइज्ड स्टेटस जांचने के लिए रिजर्व बैंक की वेबसाइट पर मुहैया ऑथराइज्ड लोगों और ऑथराइज्ड इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स की लिस्ट से मिलान किया जा सकता है.

रिजर्व बैंक ने आगाह किया है कि केवल अधिकृत संस्थाओं से ही फॉरेक्स सौदे किए जा सकते हैं और केवल उसी मद में किए जा सकते हैं जिनकी नियमों के तहत कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग इजाजत है. जिन फॉरेक्स सौदों की इजाजत है वो केवल रिजर्व बैंक से ऑथराइज्ड ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स से ही होना चाहिए. या फिर BSE, NSE जैसे मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंज से किए जा सकते हैं. ऐसे में लोगों को रिजर्व बैंक ने आगाह किया है कि वो अनाधिकृत प्लेटफॉर्म्स से फॉरेक्स के सौदे न करें. अगर कोई अनाधिकृत सौदे करेगा तो फॉरेक्स एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट (FEMA) नियमों के तहत कार्रवाई के लिए जिम्मेदार होगा.

अगर आप भी फॉरेक्स ट्रेडिंग में दिलचस्पी रखते हैं तो आपने भी Forex Trading के जरिए रातों-रात अमीर बनने का सपना दिखाने वाले एडवर्टीज़मेंट देखे होंगे. ऐसे विज्ञापन अकसर महंगाई का सौदा होते हैं. ये फॉरेक्स ट्रेडिंग ऐप्स निवेशकों को पहली बार ट्रेड के लिए फ़्री कैश या फ्री ट्रेडिंग कोर्स जैसे ऑफर देते हैं. खुद को क्रेडिबल दिखाने के लिए बड़े-बड़े दावे भी करने से पीछे नहीं हटते हैं. आरबीआई काफी वक्त से इनके खिलाफ लोगों को जागरूक कर रहा है.

आरबीआई इसके पहले भी कई ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स के खिलाफ लोगों को आगाह कर चुकी है. इनमें से OctaFx, OlympTrade, Alpari, Forex.com, Ava Trade, FBS, I-Forex, Binomo.com, IQ Option, TP Global Forex जैसे प्लेटफॉर्म पर फॉरेक्स ट्रेडिंग रिजर्व बैंक नियमों के तहत कानूनन अपराध की श्रेणी में आता है. ये प्लेटफॉर्म्स रिजर्व बैंक या सेबी में से किसी के पास भी रजिस्टर्ड नहीं हैं.

10 मिनट में समझे फॉरेक्स ट्रेडिंग क्या है?

आज इस पोस्ट में हम बाजार का एक प्रमुख अंग कहे जाने वाले फोरेक्स मार्किट के बारे में जानेंगे | हम में से अक्सर लोग शेयर बाजार से सुरुवात करते है और जब ओ फोरेक्स मार्किट में कदम रखते है तब उनका पहला ही सवाल होता है के forex trading kya hai ? तो अगले 10 मिनट में समझते है फॉरेक्स ट्रेडिंग क्या है?

विदेशी मुद्रा व्यापार क्या है और यह कैसे काम करता है: विदेशी मुद्रा, (Forex or FX ) विदेशी मुद्रा व्यापार एक प्रकार का कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग व्यापार है जिसमें एक मुद्रा का दूसरे के लिए कारोबार किया जाता है। इसमें मुद्राओं की जोड़ी शामिल है जहां विदेशी मुद्रा व्यापारी विश्लेषण पर ट्रेड करता है यदि एक मुद्रा का मूल्य दूसरे की तुलना में बढ़ेगा या घटेगा|

तो Forex trading kya h? इसे और भी आसानी से ऐसे बोल सकते है के एक-दूसरे के साथ राष्ट्रीय मुद्राओं के आदान-प्रदान के लिए एक आंतरराष्ट्रीय बाजार है। व्यापार के सबसे लोकप्रिय रूपों में से एक है जो मुद्रा की कीमतों के बारे में वित्तीय अटकलों पर आधारित है।

विदेशी मुद्रा कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से की जा सकती है, लेकिन आजकल इसका अधिकांश भाग इंटरनेट पर अन्य प्रकार के व्यापार के समान ही किया जाता है।

जैसा कि हम जानते हैं कि 'विदेशी मुद्रा' विदेशी मुद्रा का संक्षिप्त रूप है; विदेशी मुद्रा व्यापार में विदेशी मुद्राएं शामिल हैं। 200 से अधिक विभिन्न देशों के लिए, उनकी मुद्राएं समान संख्या में मौजूद हैं।

इसका मतलब यह है कि व्यापारियों के पास इस वित्तीय विनिमय को करने के लिए अमेरिकी डॉलर, यूरो, पाउंड स्टर्लिंग, या किसी अन्य विदेशी मुद्रा जैसी विभिन्न मुद्राओं का उपयोग करने का अवसर है।

"विदेशी मुद्रा व्यापार क्या है?" इसका सबसे आसान उत्तर यह होगा के कोई भी व्यापारी किसी देश की मुद्रा को कम दर पर खरीदता है और मुनाफे के साथ उसे उपरी कीमतों पर बेचता है|

यह तुलनात्मक रूप से होता है; जिसमे एक मुद्रा की तुलना दूसरे देश की मुद्रा के साथ की जाती है |

मुद्रा व्यापारी को हर समय सरकार की नीतियों की एवं विश्व में चल रही गतिविधियों की जानकारी अधिक मुनाफ़ा कमाने में मदद करती है | इन सभी चीजों से मुद्रा की कीमतों में बदलाव होते है; जिसमे एक छोटे से बदलाव से भी बहुत बड़ा मुनाफ़ा कमाया जा सकता है |

इसमें व्यापारी मुद्रा को कम कीमत में खरीदते है और जब उन्हें निश्चित मुनाफा मिल जाता है तब वे उन्हें बेच देते है |

विदेशी मुद्रा व्यापर इतना सरल भी नहीं है | इसमें किसी को भी वित्तीय जोखिम को ध्यान में रखकर ही ट्रेडिंग करनी चाहिये | किसी भी ट्रेडर को ट्रेडिंग करने से पहले बुनियादी बातो को सीखना चाहिए |

विदेशी मुद्रा व्यापार तकनीकी विश्लेषण का परिचय

10 मिनट में विदेशी मुद्रा व्यापार शुरू करें

ट्रेडिंग के बारे में जो कुछ भी आपने सीखा है उसे 1:777 लीवरेज, ऋणात्मक शेष सुरक्षा और बकाया समर्थन के साथ एक वास्तविक ट्रेडिंग खाते में लागू करें।

ट्रेडिंग फॉरेक्स क्या है?

किसी भी प्रकार की ट्रेडिंग में आप कोई भी एसेट खरीदते और बेचते हैं। विदेशी मुद्रा व्यापार में, यह कार्य मुद्रा के आदान-प्रदान के रूप में किया जाता है।

- फॉरेक्स ट्रेडिंग को करेंसी ट्रेडिंग भी कहा जाता है।

मुद्रा व्यापार सबसे लोकप्रिय व्यवसायों में से एक है। इसे एफएक्स या फॉरेक्स भी कहा जाता है। मुद्रा व्यापार किसी भी देश के अंदर चल रहे शेयर बाजार से भी लोकप्रिय है। संयुक्त राज्य अमेरिका के अनुसार, दुनिया में 180 आधिकारिक मुद्राएं हैं जिन्हें विदेशी मुद्रा व्यापार में खरीदा और बेचा जा सकता है। और यही मुद्रा व्यापार संक्षेप में है।

तो आइए जानते हैं कि फॉरेक्स कैसे काम करता है। जैसा कि हम जानते हैं कि विदेशी मुद्रा सबसे लोकप्रिय वास्तविक व्यापार है। करेंसी का लेन-देन अब सिर्फ एक देश से दूसरे देश में जानने वाले लोगों तक ही सीमित नहीं रहा, अब विदेशी मुद्रा का लेन-देन बिना कहे भी किया जा सकता है।

उदाहरण के लिए, यदि आप कोई वस्तु ऑनलाइन खरीद रहे हैं जिसकी कीमत पाउंड में दी गई है, तो आपको अपनी मुद्रा को पाउंड में बदलना होगा।

आइए अब समझते हैं कि ट्रेडर फॉरेक्स में कैसे ट्रेड कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग करते हैं।

व्यापारी एक विशेष मुद्रा को चुनकर एक सामान्य दौरे पर अपना पैसा खरीदते हैं, जब उस मुद्रा की कीमत बाजार में काम करेगी। क्योंकि यह उस समय किफायती हो जाता है। उसके बाद, जब कीमत फिर से बढ़ जाती है, तो व्यापारी इसे सही समय पर बेचते हैं।

क्यों ऑनलाइन विदेशी मुद्रा व्यापार क्षेत्र पर हावी है?

जैसा की हम विदेशी मुद्रा व्यापार का अर्थ जान चुके है ; इसमें हम ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों तरीको से ट्रेड कर सकते है |

अगर आप को ऑफलाइन विदेशी मुद्रा व्यापार में ट्रेड करना है तो बैंक में जाना पड़ेगा | इसके विपरीत आप इसे बहोत ही आसानी से ऑनलाइन तरीके से भी कर सकते है|

ऑनलाइन से ट्रेडिंग बहोत ही सरल हो जाती है जिसके लिए आपको कही भी जाना नहीं पड़ेगा | केवल आप अपने मोबाइल फोन या फिर लैपटॉप के जरिये से फोरेक्स ट्रेडिंग कर सकते है और इसी वजह से फोरेक्स ट्रेडिंग ऑनलाइन तरीके से बहोत ज्यादा की जा रही है |

How Forex works?

Currencies in Forex explained for dummies

फोरेक्स मार्किट पूरी तरीके से मुद्रा के व्यापार का ही नाम है ; यह अलग अलग देशो के मुद्राओसे जुड़ा है| इसमें आपको तकरीबन २०० अलग अलग नामांकित मुद्राये मिल जायेगी |

🍁 करेंसी पेअर : 'मुद्रा जोड़े' यह एक विशिष्ट नाम है जो दो मुद्राओ और उनकी उस वक्त की कीमत के बिच के सम्बन्ध को दिखाता है| जैसे के करेन्सी पेअर USD / EUR इसमें युरो और डॉलर शामिल है|

यह जोड़ी दोनों करेंसी का विनिमय दर दिखाती है ; इसका यह मतलब होता है के 1USD में कितने यूरो ख़रीदे जा सकते है |

🍁 जैसे के विनिमय दर 2.0 का है तो 1usd में २ यूरो ख़रीदे जाएंगे | विदेशी मुद्रा व्यपार में विनिमय दरे ही व्यापार का मुलभुत आधार है | ये दरे फिक्स्ड , फ्लोटिंग, बढ़ने और घटने वाली आदि किसम की होती है |

इस बात से आप यह अंदाजा तो लगा सकते है के एक ट्रेडर मुद्रा व्यापार में क्या करना चाहिए? उत्तर विल्कुल साफ़ है |

आमतौर पर एक ट्रेडर किसी भी करेंसी पेअर की दरे घटने का इन्तजार करता है और फिर उसे कम दरों पर खरीदता है | जब उस करेंसी पेअर की कीमत बढ़ जाती है तब उसे बेचता है| और दोनों दरों के फर्क से उस ट्रेडर को मुनाफा होता है |

Forex बाजार में सक्रिय होने का सबसे बेहतरीन समय क्या है?

Forex बाजार में सक्रिय होने का सबसे बेहतरीन समय क्या है – आधिकारिक Olymp Trade ब्लॉग

जबकि Olymp Trade प्लेटफॉर्म पर क्रिप्टो , OTC और Quickler, Forex बाज़ार सप्ताह में 5 दिन खुला रहता है। इसलिए, ट्रेडरों को अपने चुने हुए साधनों पर उत्कृष्टम ट्रेड करने के लिए अपनी गतिविधियों को अच्छी तरह से व्यवस्थित करना चाहिए। यह लेख ऐसा करने के तरीकों पर विभिन्न सलाह प्रदान करता है।

अतिरिक्त विवरण और स्पष्टीकरण प्राप्त करने के लिए डैश युक्त नीला शब्द और चित्रों के ऊपर स्थित हरे बिंदु के साथ अंतर्क्रिया करें।

दृश्य सामग्री पर अधिक विवरण यहां होंगे।

शब्द की परिभाषा या स्पष्टीकरण यहां उपलब्ध होगा।

विषय-वस्तु

समय क्षेत्र और ट्रेडिंग सत्र

वैश्विक Forex बाजार को चार कारोबारी सत्रों में बाँटा जाता है। ये एशियाई, यूरोपीय, अमेरिकी और पैसिफ़िक (प्रशांत) हैं। यहाँ शेड्यूल प्रस्तुत है।

ट्रेडिंग सत्र वित्तीय केंद्र समय (UTC)
एशियाई टोक्यो, हांगकांग, शंघाई, सोल 00:00 — 08:00
यूरोपीय लंदन, फ्रैंकफर्ट, ज्यूरिक 06:00 — 16:00
अमेरिकी न्यूयॉर्क, शिकागो 15:00 — 23:00
पैसिफ़िक वेलिंगटन, सिडनी 22:00 — 07:00

किसी भी मुद्रा के लिए, ट्रेडिंग आमतौर पर अपने "मूल" ट्रेडिंग सत्र के सबसे व्यस्त समय में अत्यधिक होती है। इसलिए, यह वही समय होता है जब संबंधित कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग मुद्रा सबसे अधिक अस्थिरता का अनुभव करती है और संभवत बड़े लाभ के अवसर उत्पन्न करती है।

  • अमेरिकी डॉलर के लिए अमेरिकी ट्रेडिंग सत्र सबसे सक्रिय अवधि है।
  • यूरो के लिए, यूरोपीय सत्र चरम गतिविधि का समय है।यूरो के लिए, यूरोपीय सत्र चरम गतिविधि का समय है.
  • जापानी येन और चीनी युआन के लिए एशियाई सत्र सबसे व्यस्त समय होता है।
  • न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलियाई डॉलर के लिए, प्रशांत (पैसिफ़िक) सत्र सबसे व्यस्त अवधि होती है।

ध्यान रखें कि प्रत्येक देश और क्षेत्र की अपनी आधिकारिक छुट्टियां होती हैं जैसे कि नव वर्ष। छुट्टी का शिड्यूल किसी कारोबारी अवधि और बाजारों की उपलब्धता को प्रभावित करता है। आप 2022 के छुट्टी कार्यक्रम को देख सकते हैं जिसे हमने पहले ही अपने ब्लॉग में प्रकाशित कर चुके हैं।

Olymp Trade प्लेटफॉर्म सभी ट्रेडरों को ट्रेडिंग शिड्यूल में कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग बदलाव के बारे में पहले ही सूचित कर देता है।

आर्थिक समाचार और Olymp Trade इनसाइट

आर्थिक घटनाएं प्राय ट्रेडिंग साधनों की कीमतों को प्रभावित करती हैं। इसलिए आर्थिक समाचारों के अनुरूप ट्रेड करना उचित होता है। उन्हें कहां खोजना है और क्या ट्रेड करना है? Olymp Trade प्लेटफॉर्म की इनसाइट्स एक अच्छा साधन है।

Olymp Trade प्लेटफॉर्म पर इनसाइट्स खोजना – आधिकारिक Olymp Trade ब्लॉग

सहायता केंद्र के तहत प्लेटफॉर्म पर साइडबार के माध्यम से इसे आसानी से एक्सेस किया जा सकता है। इसमें अपेक्षित समाचार विज्ञप्तियां शामिल हैं जो संभवत कई ट्रेडिंग इंस्ट्रूमेंट्स की कीमतों में बदलाव ला सकती हैं।

इनसाइट्स में, प्रत्येक कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग समाचार बॉक्स दर्शाता है कि समाचार कब जारी होने की उम्मीद है। इसलिए, ट्रेडर अपने ट्रेडों को संबंधित समाचार विज्ञप्ति के अनुरूप योजना बना सकते हैं।

चुनाव, सोना, और मुद्राएं

राष्ट्रीय राष्ट्रपति और सरकारी चुनाव एक बहुत ही प्रभावशाली प्रक्रिया होती है। सोने और मुद्रा की कीमतें उन पर सक्रिय रूप से प्रतिक्रिया देती हैं। इसलिए, यह ट्रेडिंग अवसरों से परिपूर्ण समय हो सकता है।

नीचे, आपके लिए 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों के दौरान हाइलाइट किए गए डाउनट्रेंड में सोने की कीमत का चार्ट है।

2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों के दौरान सोने की कीमत – आधिकारिक Olymp Trade ब्लॉग

यही अवधि USD/JPY चार्ट में अपट्रेंड के अनुरूप है।

2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों के दौरान USD/JPY – आधिकारिक Olymp Trade ब्लॉग

इस प्रकार की घटनाएं प्रभावित ट्रेडिंग इंस्ट्रूमेंट्स की कीमतों में उतार-चढ़ाव ला सकती हैं और ट्रेडरों के लिए पर्याप्त ट्रेडिंग अवसर ला सकती हैं।

Earnings Season

निगम हर तीन महीने में एक बार अपने तिमाही प्रदर्शन की रिपोर्ट जारी करते हैं। उनके स्टॉक की कीमतें जारी होने से पहले और पश्चात बड़ी गतिविधि कर सकती हैं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि प्रस्तुत परिणाम उम्मीदों को पार कर जाते हैं या कम आते हैं। जो लोग शेयर ट्रेडिंग में रुचि रखते हैं, उनके लिए अर्निंग्स सीज़न संभवत एक बहुत ही लाभदायक समय है। ऐसे हर सीजन में, Olymp Trade प्लेटफॉर्म पर और अपने सामुदायिक चैनलों के माध्यम से कमाई रिपोर्ट जारी होने का शिड्यूल और ट्रेडिंग सुझाव प्रदान करता है।

सहायता केंद्र में, आप अर्निंग सीज़न के दौरान ट्रेड करने के तरीकों के बारे कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग में अधिक सलाह प्राप्त कर सकते हैं।

ट्रेडिंग समय-निर्धारण की सलाह

अग्रिम में ही ट्रेडिंग योजना बनाएं

उपरोक्त जानकारी के आधार पर तय करें कि आप क्या ट्रेड करना चाहते हैं और कब ऐसा करना सबसे उपयुक्त होगा। निरंतर तरीके से अपनी ट्रेडिंग रणनीति को बनाएं, फॉलो करें, जांचें और सुधारें।

समाचार जारी होने के बाद थोड़ा इंतजार करें

कई ट्रेडर उसी समय या समाचार जारी होने के तुरंत बाद पोज़िशन खोलने की जल्दबाज़ी करते हैं। यह अक्सर आपको अप्रत्याशित नुकसान की ओर जाता है। इससे बचने के लिए, समाचार जारी होने के लगभग 10 मिनट तक प्रतीक्षा करें, बाजार को स्थिर होने दें, और फिर एक ट्रेड खोलें।

दृष्टिकोणों (पद्धतियों) को मिलाकर काम करना सबसे बेहतर होता है

याद रखें कि आगे बढ़ने का सबसे सुरक्षित तरीका विभिन्न दृष्टिकोणों और रणनीतियों को आज़माना और संयोजित करना होता है। भले ही आपको पहले से ही एक कारगार पद्धति मिल गई हो, फिर भी अपने पास कुछ वैकल्पिक ट्रेडिंग रणनीतियां रखना हमेशा अच्छा होता है, और Olymp Trade आपको उन्हें उपलब्ध कराते हुई ख़ुशी होती है।

जोखिम चेतावनी: लेख की सामग्री में निवेश की सलाह निहित नहीं है और आप अपनी ट्रेडिंग गतिविधि और/या ट्रेडिंग के परिणामों के लिए पूरी तरह से स्वयं जिम्मेदार हैं।

Bitcoin, Ethereum, Litecoin, सभी 24/7 उपलब्ध हैं।

ओवर-द-काउंटर AUD/USD, के साथ 24/7 ट्रेड करना संभव बनाता है। EUR/USD, GBP/USD, NZD/USD, USD/CAD, USD/CHF, USD/JPY, और सोना सप्ताहांत पर Fixed Time Trades मोड पर उपलब्ध हैं।

Forex Trading Strategies in Hindi: फॉरेक्स ट्रेडिंग में मुनाफा कमाने के लिए इस तरह बनाएं स्ट्रेटेजी

Forex Trading Tips in Hindi: How To Invest in Foreign Stock: अगर आप भी फॉरेन स्टॉक में निवेश करना चाहते है लेकिन नहीं मालूम कि फॉरेक्स ट्रेडिंग से मुनाफा कमाने के लिए स्ट्रेटेजी कैसे बनाएं? तो ऐसे में यह लेख आपके लिए इस समस्या का समाधान करेगा। यहां हम Forex Trading Strategies in Hindi पर चर्चा करेंगे।

Best Forex Trading Strategy in Hindi: फॉरेक्स एक्सचेंज, ट्रेडिंग या टूरिज्म जैसे विभिन्न उद्देश्यों के कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग लिए एक करेंसी को दूसरी मुद्रा में बदलने की प्रक्रिया है। एक FX या फॉरेन एक्सचेंज ट्रेडिंग ग्लोबल मार्केट स्पेस है जहां मुद्राओं (Currencies) का आदान-प्रदान एक सहमत मूल्य पर किया जाता है। Forex Trading में कई रणनीतियां (Strategy)हैं, लेकिन सवाल यह है कि कैसे काम करती है फोरेक्स ट्रेडिंग सबसे अच्छी फॉरेक्स ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी (Best Forex Trading Strategies) कौन सी हैं जिनका पालन करने की आवश्यकता है? तो आइए इस लेख में समाझते है कि फॉरेक्स ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी क्या है? और अपने लिए सबसे बढ़िया फॉरेक्स ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी कैसे बनाएं? (How to Create a Forex Trading Strategy?)

फॉरेक्स ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी क्या है? | What is Forex Trading Strategy in Hindi

एक विदेशी Forex Trading Strategy एक ऐसा सिस्टम है जिसका उपयोग ट्रेडर यह निर्धारित करने के लिए करता है कि करेंसी का व्यापार कब करना है? लेकिन यह इतना मायने क्यों रखता है? फॉरेन करेंसी की वैल्यू हर दिन बदलती है, और सबसे अच्छी स्ट्रेटेजी व्यापारी को अधिकतम लाभ कमाने की अनुमति देती है।

यह निर्धारित करने के लिए कि फॉरेन करेंसी के लिए कौन सी स्ट्रेटेजी सबसे अच्छी है, व्यापारी कई मानदंडों का उपयोग करके उनकी तुलना करते हैं -

टाइम रिसोर्स की आवश्यकता

व्यापार के अवसरों की फ्रीक्वेंसी

लक्ष्य के लिए विशिष्ट दूरी

फॉरेक्स ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी कैसे बनाएं? | Forex Trading Strategies in Hindi

1) प्राइस एक्शन ट्रेडिंग (Price Action Trading)

प्राइस एक्शन ट्रेडिंग फॉरेक्स ट्रेडिंग और अन्य ट्रेडिंग द्वारा उपयोग किए जाने वाले मूल्य भविष्यवाणियों और अटकलों के लिए एक दृष्टिकोण है। इस दृष्टिकोण में ऐतिहासिक डेटा और पिछले प्राइस मूवमेंट में सभी टेक्निकल एनालिसिस टूल शामिल हैं जैसे चार्ट, बार, ट्रेंड लाइन, प्राइस बैंड, हाई और लौ स्विंग, टेक्निकल लेवल शामिल है।

प्राइस एक्शन ट्रेडिंग में रुझान विभिन्न समय-सीमाओं जैसे कि शॉर्ट टर्म, मीडियम टर्म और लॉन्ग टर्म पर निर्धारित किया जा सकता है। यह व्यापारी को कई समय-सीमाओं का उपयोग करके एनालिसिस करने और बेचने या खरीदने के लिए निष्कर्ष निकालने की सुविधा देता है। प्राइस एक्शन ट्रेडिंग में कई support/resistance लेवेक FX ट्रेडर को आगे बढ़ने में मदद करते हैं। उनमें से कुछ फाइबोनैचि रिट्रेसमेंट, कैंडल विक्स, ट्रेंड आइडेंटिफिकेशन, इंडिकेटर, ऑसिलेटर्स और अन्य प्रतीकात्मक पहचानकर्ता हैं।

2) रेंज ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी (Range Trading Strategy)

रेंज ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी सभी व्यापारिक बाजारों में लोकप्रिय ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी में से एक है, और FX ट्रेडर अक्सर इसका इस्तेमाल करते हैं। फॉरेक्स ट्रेडर रेंज ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी में सपोर्ट और रेसिस्टेंस पॉइंट की पहचान करते हैं और उसी के अनुसार ट्रेड करते हैं।

टेक्निकल एनालिसिस जैसे कि ऑसिलेटर्स का उपयोग रेंज ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी की कुंजी है, और यह स्ट्रेटेजी बिना किसी अस्थिरता या समझ के पूरी तरह से काम करती है, जो इसे बेस्ट फॉरेक्स ट्रेडिंग प्रैक्टिस में से एक बनाती है। इसका उपयोग प्राइस एक्शन ट्रेडिंग के संयोजन में किया जा सकता है और यह पर्याप्त संख्या में व्यापारिक अवसर प्रदान करता है।

3) ट्रेंड ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी (Trend Trading Strategy)

यह सभी अनुभवी फॉरेक्स ट्रेडर द्वारा उपयोग किया जाता है, ट्रेंड ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी गति (Momentum) के सिद्धांत पर काम करती है। फॉरेक्स ट्रेडर्स का मानना ​​​​है कि सुरक्षा उसी दिशा में गति बनाए रखेगी क्योंकि यह वर्तमान में इस रणनीति में चलन में है। दूसरे शब्दों में यह स्ट्रेटेजी मार्केट डायरेक्शन मोमेंटम का उपयोग करके प्रॉफिट जनरेट करने का प्रयास करती है।

फॉरेक्स ट्रेडर्स को पता है कि इस तरह की स्ट्रेटेजी थोड़े समय के लिए उपयुक्त नहीं है क्योंकि प्रवृत्ति में उतार-चढ़ाव होता रहता है। यह एक मध्यम या लंबी समय सीमा के लिए एक अच्छा विकल्प है जहां ज़ूम-आउट फ्रेम में प्रवृत्ति का विश्लेषण किया जा सकता है। इसमें बाहर निकलने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला रिस्क-रिवॉर्ड रेश्यो शामिल है, जबकि टेक्निकल एनालिसिस के लिए, RSI और CCI जैसे ऑसिलेटर्स का उपयोग किया जाता है।

4) पोजीशन ट्रेडिंग (Position Trading)

एक लंबी अवधि की स्ट्रेटेजी जो हाई रिटर्न और पॉजिटिव रिस्क-रिवॉर्ड रेश्यो में से एक साबित हुई है, फोरेक्स की सबसे उम्दा ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी में से एक है। इसके कांसेप्ट में इलियट वेव थ्योरी का उपयोग शामिल है, और चूंकि यह एक लॉन्ग टर्म स्ट्रेटेजी है, इसलिए छोटे बाजार में उतार-चढ़ाव को नजरअंदाज कर दिया जाता है।

पोजीशन ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी के लिए लंबी अवधि और व्यापक चार्ट पर तकनीकी और मौलिक विश्लेषण की उच्च समझ की आवश्यकता होती है।

यह समझना भी जरूरी है कि आर्थिक या सामाजिक आर्थिक कारक किसी विशेष देश के वातावरण में रुझानों या परिवर्तनों पर निरंतर नजर के माध्यम से व्यापारिक संख्याओं को कैसे प्रभावित करते हैं, व्यापारी लघु, मध्यम और लंबी अवधि में व्यापार कर रहा है।

5) डे ट्रेडिंग स्ट्रेटेजी (Day Trading Strategy)

यह न केवल फॉरेक्स ट्रेडिंग बल्कि अन्य बाजारों जैसे स्टॉक में एक सामान्य स्ट्रेटेजी है। इस स्ट्रेटेजी में दिन के अंत तक निर्णय लिया जाता है, और ट्रेडर बाजार बंद होने से पहले सभी वस्तुओं को बेच देता है। दिन के अंत में दिन का व्यापार एक व्यापार तक सीमित नहीं है, और पूरे दिन के लिए इस रणनीति में कई व्यापार आम हैं। इसके अलावा, कोई यह समझ सकता है कि यह एक शॉर्ट टर्म स्ट्रेटेजी है और आमतौर पर 1:1 रिस्क-रिवॉर्ड रेश्यो के साथ समाप्त होती है।

टेक्निकल एनालिसिस एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जिसके बिना यह एक अंधा व्यापार होगा और इसमें नुकसान हो सकता है।

Conclusion -

ये सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली और अच्छी Forex Trading Strategies in Hindi हैं जिनका उपयोग एक ट्रेडर टेक्निकल और फंडामेंटल एनालिसिस के साथ कर सकता है। उपरोक्त बताएं गए स्टेप द्वारा आप भी फॉरेक्स ट्रेडिंग के लिए रणनीति बनाकर मुनाफा कमा सकते है।

रेटिंग: 4.54
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 732
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *