एक मुद्रा कैरी ट्रेड की मूल बातें

करेंसी ट्रेड

करेंसी ट्रेड

थम नहीं रही Cryptocurrency मार्केट की गिरावट, Bitcoin और Ether 4 पर्सेंट तक लुढ़के

क्रिप्टोकरेंसी निवेशकों के लिए बीते कुछ दिन अच्छे नहीं रहे हैं। दुनिया की सबसे चर्चित और बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) गुरुवार को 2 पर्सेंट की गिरावट के साथ 16,588 डॉलर पर ट्रेड कर रही है।

थम नहीं रही Cryptocurrency मार्केट की गिरावट, Bitcoin और Ether 4 पर्सेंट तक लुढ़के

क्रिप्टोकरेंसी निवेशकों के लिए बीते कुछ दिन अच्छे नहीं रहे हैं। दुनिया की सबसे चर्चित और बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) गुरुवार को 2 पर्सेंट की गिरावट के साथ 16,588 डॉलर पर ट्रेड कर रही है। जबकि दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी और चर्चित क्रिप्टो करेंसी एथेरियम ब्लॉकचेन की ईथर (Ether) भी गुरुवार को 4 पर्सेंट गिरकर 1,208 डॉलर पर ट्रेड कर रही है। दूसरी ओर ग्लोबल क्रिप्टो मार्केट कैप गुरुवार को 1 ट्रिलियन डॉलर से नीचे रहा। CoinGecko के अनुसार पिछले 24 घंटों में ग्लोबल क्रिप्टो मार्केट कैप 1 पर्सेंट से अधिक की गिरावट के साथ 870 बिलियन डॉलर पर ट्रेड कर रहा है। आइए जानते हैं क्या है दूसरी क्रिप्टोकरेंसी का हाल।

डॉगकॉइन और शीबा इनु में भी 2 पर्सेंट तक गिरावट
दूसरी क्रिप्टोकरेंसी जैसे डॉगकॉइन (Dogecoin) भी गुरुवार को 2 पर्सेंट की गिरावट के साथ 0.08 डॉलर पर ट्रेड कर रही है। जबकि शीबा इनु (shiba inu) गुरुवार को 1 पर्सेंट गिरकर 0.00009 डॉलर पर ट्रेड कर रही है। वहीं पिछले 24 घंटों में सोलोना, टीथर, एक्सआरपी, ट्रॉन, लिटकॉइन, यूनिस्वैप, एपीकॉइन, पॉलीगॉन, कार्डानो, स्टेलर, चेनलिंक और पोल्काडॉट भी गिरावट के साथ ट्रेड कर रही हैं। इससे कुछ दिन पहले बाइनैंस (Binance) की FTX के साथ डील वापस लेने के कारण अगले कुछ दिनों तक क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में लगातार करेंसी ट्रेड गिरावट देखी गई थी।

ईथर जा सकता है 1,100 डॉलर के नीचे
ग्लोबल क्रिप्टो इनवेस्टमेंट प्लेटफॉर्म Mudrex के सीईओ और को-फाउंडर इदुल पटेल कहते हैं कि मार्केट में जारी इस गिरावट की सबसे बड़ी वजह क्रिप्टो ब्रोकरेज जेनेसिक (Genesic) का विड्रॉल को सस्पेंड कर देना है। इदुल पटेल कहते हैं कि अगर बिटकॉइन 17,622 डॉलर के नीचे ट्रेड करेगा तो यह जल्द ही गिरकर 15,588 डॉलर से नीचे चला जाएगा। वहीं पिछले 24 घंटों में एथेरियम ब्लॉकचेन की ईथर में 3 पर्सेंट की गिरावट आई करेंसी ट्रेड है। यह मार्केट में सेलर्स की मजबूती को दिखाता है। अगर सेलर्स ऐसे ही मजबूत बने रहे तो हम ईथर को 1,करेंसी ट्रेड 100 डॉलर के नीचे ट्रेड करते हुए देख सकते हैं।

सर्राफा बाजार में तेजी जारी, 53 हजार के करीब पहुंचा सोना

नई दिल्ली (New Delhi), 15 नवंबर . शादी के सीजन के लिए हो रही खरीदारी के सपोर्ट और अंतरराष्ट्रीय बाजार में आए उछाल के कारण आज भारतीय सर्राफा बाजार में भी तेजी का माहौल बना रहा.

अंतरराष्ट्रीय बाजार में फिलहाल सोने की कीमत 1,770.18 डॉलर (Dollar) प्रति औंस के स्तर पर पहुंच गई है. इसी तरह चांदी (Silver) भी 22.01 डॉलर (Dollar) प्रति औंस के स्तर पर कारोबार कर रहा है. हालांकि प्रतिकूल वैश्विक परिस्थितियों की वजह से इस तेजी को अस्थायी माना जा रहा है.

भारतीय सर्राफा बाजार में मांग में आई तेजी की वजह से आज सोने की कीमत 53 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर के करीब पहुंच गई. हालांकि अभी भी सोना (Gold) अपने ऑल टाइम हाई लेवल से करीब 3,700 रुपये नीचे कारोबार कर रहा है. सोने की अलग अलग श्रेणियों में आज 447 रुपये प्रति 10 से लेकर 261 रुपये प्रति 10 ग्राम तक की तेजी दर्ज की गई. सोने की तरह ही सर्राफा बाजार में चांदी (Silver) में भी आज तेजी का रुख बना रहा. खरीदारी के सपोर्ट से ये चमकीली धातु आज 62,500 रुपये प्रति किलोग्राम के स्तर के करीब पहुंच गई.

इंडियन बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन (आईबीजेए) की ओर से उपलब्ध कराई गई जानकारी के मुताबिक घरेलू सर्राफा बाजार में आज कारोबारी यानी 24 कैरेट (999) सोने की औसत कीमत 447 रुपये की तेजी के साथ उछल कर 52,877 रुपये प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) हो गई. इसी तरह 23 कैरेट (995) सोने की कीमत भी 445 रुपये की बढ़त के साथ 52,665 रुपये प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) हो गई. जेवराती यानी 22 कैरेट (916) सोने की कीमत में आज 409 रुपये प्रति 10 ग्राम की मजबूती दर्ज की गई. इसके साथ ही 22 कैरेट सोना (Gold) 48,435 रुपये प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) के स्तर पर पहुंच गया. इसके अलावा 18 कैरेट (750) सोने की कीमत आज प्रति 10 ग्राम 335 रुपये चढ़ कर 39,658 रुपये प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) के स्तर पर पहुंच गई. 14 कैरेट (585) सोना (Gold) आज 261 रुपये मजबूत होकर 30,933 रुपये प्रति 10 ग्राम (अस्थाई) के स्तर पर पहुंच गया.

सर्राफा बाजार में बनी तेजी के माहौल का असर चांदी (Silver) की कीमत पर भी नजर आया. आज के कारोबार में चांदी (Silver) (999) में 884 रुपये प्रति किलोग्राम की उछाल दर्ज की गई. इस मजबूती के कारण ये चमकीली धातु आज उछल कर 62,467 रुपये प्रति किलोग्राम (अस्थाई) के स्तर पर पहुंच गई.

दरअसल, शादी के सीजन की शुरुआत के कारण भारतीय सर्राफा बाजार को काफी सहारा मिला है. पिछले 15 दिन के दौरान सोने की कीमत में प्रति 10 ग्राम करीब 2000 रुपये की तेजी आ चुकी है. इसी तरह चांदी (Silver) की कीमत में भी 4 हजार से रुपये से अधिक का उछाल करेंसी ट्रेड आ चुका है. 1 नवंबर को सोना (Gold) 50,462 रुपये प्रति 10 ग्राम की कीमत पर ट्रेड कर रहा था, जो आज 52,877 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर पहुंच गया है. इसी तरह 1 नवंबर को चांदी (Silver) 58,200 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर कारोबार कर रहा था, जो आज 62,467 रुपये के स्तर पर आ गया है.

हालांकि, मार्केट एक्सपर्ट मयंक मोहन का मानना है कि घरेलू सर्राफा बाजार में अभी व्यक्तिगत खरीदारी का ही जोर बना हुआ है. ज्यादातर लोग शादी की जरूरत के मुताबिक ही ज्वेलरी की खरीद कर रहे हैं लेकिन बड़े निवेशक अभी भी बाजार से दूरी बनाए हुए हैं. इसकी वजह से सर्राफा बाजार की तेजी को लेकर अनिश्चितता वाली स्थिति बनी हुई है.

मयंक मोहन के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय बाजार में आज सोने की कीमत में मामूली तेजी जरूर आई है लेकिन वैश्विक परिस्थितियों की वजह से इस तेजी को अस्थाई माना जा रहा है. इसलिए शादी के सीजन के बावजूद प्रतिकूल वैश्विक परिस्थितियां बनने पर भारतीय सर्राफा बाजार में कभी भी गिरावट का रुख बन सकता है. सोने और चांदी (Silver) के कारोबार में बनी वैश्विक अनिश्चितता के कारण निवेशक अभी भी बड़ा निवेश करने से बच रहे हैं. इसलिए जब तक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोने चांदी (Silver) की कीमत में स्थिरता नहीं आती है, करेंसी ट्रेड तब तक छोटे निवेशकों को अपनी निवेश योजना काफी सोच समझकर बनानी चाहिए.

Cryptocurrency News : सस्ती करेंसियां करा रहीं हैं ज्यादा फायदा, जानिए क्यों क्रिप्टोकरेंसी का चल रहा है बुरा समय?

Cryptocurrency News : सस्ती करेंसियां करा रहीं हैं ज्यादा फायदा, जानिए क्यों क्रिप्टोकरेंसी का चल रहा है बुरा समय?

Cryptocurrency News : क्रिप्टोकरेंसी का बाजार आजकल काफी चर्चा में है। लोगों ने इसे अमीर बनने का सबसे आसान रास्ता समझ लिया था। लेकिन अचानक दुनियाभर के कई देशों की सरकारों की सख्ती के चलते बिटक्वाइन से लेकर कई क्रिप्टो करेंसी के रेट एकदम से धड़ाम हो गए हैं। क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) के सबसे बड़े एक्सचेंजों में से एक एफटीएक्स (FTX) के दिवालिया होने से क्रिप्टो निवेशक सकते में हैं। एफटीएक्स के दिवालिया होने से यह ट्रिलियन डॉलर की इंडस्ट्री बुरी तरह हिल गई है। लेकिन निवेशकों का दुख अभी खत्म नहीं हुआ है। क्रिप्टो निवेशकों को अभी और दर्द सहना होगा। जेपी मॉर्गन (JPMorgan) के विश्लेषकों का कहना हैं कि आने वाले हफ्तों में बिटकॉइन (Bitcoin) में 25 फीसदी की और गिरावट आ सकती है। इससे दूसरी क्रिप्टोकरेंसीज भी औंधे मुंह गिर सकती हैं।

एक साल में 75% गिरा बिटकॉइन :

कुल मिलाकर बात यह है कि क्रिप्टोकरेंसी के लिए यह काफी बुरा समय चल रहा है। सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन की वैल्यू एक साल में 75 फीसदी से अधिक गिर गई है। हालांकि, मंगलवार को यह बढ़त के साथ 16,675 डॉलर के करीब ट्रेड करती दिखाई दी। कोरोना महामारी के समय लोगों ने क्रिप्टोकरेंसी में जमकर पैसा लगाया था। इसका कारण था अमेरिकी केंद्रीय बैंक द्वारा बाजार में जमकर लिक्विडिटी लाना। फेडरल रिजर्व ब्याज दरों को जीरो के करीब ले आया था। लेकिन अब यह काफी पुरानी बात हो गई है।

यह भी पढ़े : Dream Interpretation: भोजन से जुड़े ऐसे सपने आना होता है बहुत शुभ, क्‍या आपने भी देखे हैं?

बाजार में कम हो रही लिक्विडिटी :

हाल के महीनों में महंगाई काफी बढ़ी है। ब्याज दरें बहुत ऊपर जा चुकी हैं और बाजार में लिक्विडिटी धीरे-धीरे कम हो रही है। यह स्थिति डिजिटल एसेट्स के लिए अच्छी नहीं है, क्योंकि एक्सपर्ट्स के अनुसार डिजिटल एसेट्स में लोग अपना अतिरिक्त पैसा ही निवेश करते हैं।

अगले साल भी क्रिप्टो में राहत नहीं :

जेपी मॉर्गन के विश्लेषकों का कहना है कि फेड की नीतियों से अगले साल भी निवेश के लिए नकदी की उपलब्धता पर भारी दबाव रहेगा। इसके अनुसार, आने वाले वर्षों में भी ग्लोबल मनी ग्रोथ में मंदी जारी रहेगी। कम पैसे का मतलब है रिस्क बढ़ना। इसलिए निवेशक क्रिप्टो से बाहर निकल रहे हैं।

आईटी सेक्टर में मंदी :

बिग टेक जैसे दूसरे संवेदनशील सेक्टर्स भी इसी तरह की समस्या का सामना कर रहे हैं। आईटी सेक्टर में हम इस समय छंटनी देख रहे हैं। इसका कारण है कि यह सेक्टर मंदी की चपेट में आ रहा है। एपल, अल्फाबेट और माइक्रोसॉफ्ट जैसी टेक्नोलॉजी कंपनीज में गिरावट है। इन कंपनियों का एसएंडपी 500 में बड़ा हिस्सा है। फेड पॉलिसी में बदलाव से यूएस हाउसिंग मार्केट इंडस्ट्री भी काफी प्रभावित हुई है।

बिटक्वाइन क्रिप्टोकरेंसी के लेटेस्ट रेट :

बिटक्वाइन क्रिप्टोकरेंसी का इस वक्त क्वाइनडेस्क पर रेट 16,660.87 डॉलर का चल रहा है। इसमें इस वक्त 0.38 फीसदी की तेजी है। इस रेट पर बिटक्वाइन क्रिप्टोकरेंसी की मार्केट कैप 320.07 बिलियन डॉलर है। बीते चौबीस घंटे के दौरान बिटक्वाइन क्रिप्टोकरेंसी की अधिकतम कीमत 16,796.90 डालर और न्यूनतम कीमत 16,545.67 डॉलर रही है। जहां तक रिटर्न की बात है तो 1 जनवरी 2022 से अब तक बिटक्वाइन क्रिप्टोकरेंसी ने 63.91 फीसदी का निगेटिव रिटर्न दिया है। बिटक्वाइन क्रिप्टो करेंसी की ऑलटाइम हाई कीमत 68,990.90 डॉलर रही है।

यह भी पढ़े : BLESSINGS OF MAA LAKSHMI : दिसंबर माह में 7 राशियों पर रहेंगी मां लक्ष्मी कृपावान, खूब बरसेगा धन.

डॉगकॉइन क्रिप्टोकरेंसी के लेटेस्ट रेट :

डॉगकॉइन क्रिप्टोकरेंसी का इस वक्त क्वाइनडेस्क पर रेट 0.08504385 डॉलर का चल रहा है। इसमें इस वक्त 0.93 फीसदी की तेजी है। इस रेट पर डॉगकॉइन क्रिप्टो करेंसी की मार्केट कैप 11.66 बिलियन डॉलर है। बीते चौबीस घंटे के दौरान डॉगकॉइन क्रिप्टो करेंसी की अधिकतम कीमत 0.08 डालर और न्यूनतम कीमत 0.08 डॉलर रही है। जहां तक रिटर्न की बात है तो 1 जनवरी 2022 से अब तक डॉगकॉइन क्रिप्टो करेंसी ने 50.30 फीसदी का निगेटिव रिटर्न दिया है। डॉगकॉइन क्रिप्टो करेंसी की ऑलटाइम हाई कीमत 0.740796 डॉलर रही है।

एथेरियम क्रिप्टोकरेंसी के लेटेस्ट रेट :

एथेरियम क्रिप्टोकरेंसी का इस वक्त क्वाइनडेस्क पर रेट 1,216.36 डॉलर का चल रहा है। इसमें इस वक्त 0.87 फीसदी की तेजी है। इस रेट पर एथेरियम क्रिप्टोकरेंसी की मार्केट कैप 145.52 बिलियन डॉलर है। बीते चौबीस घंटे के दौरान एथेरियम क्रिप्टोकरेंसी की अधिकतम कीमत 1,230.20 डालर और न्यूनतम कीमत 1,197.23 डॉलर रही है। जहां तक रिटर्न की बात है तो 1 जनवरी 2022 से अब तक एथेरियम क्रिप्टोकरेंसी ने 66.87 फीसदी का निगेटिव रिटर्न दिया है। एथेरियम क्रिप्टोकरेंसी की ऑलटाइम हाई कीमत 4,865.57 डॉलर रही है।

टॉप क्रिप्टोकरेंसी की ताजा कीमत :

क्रिप्टोकरेंसी कीमत (रुपये में )
बिटकॉइन ₹ 13,58,944
एथेरियम ₹ 99,276
टीथर ₹ 81.42
बीएनबी ₹ 22,279
डॉगकॉइन 0.08504
पोलकाडॉट ₹ 457.16
शीबा इनु ₹ 0.000747


एक्सआरपी क्रिप्टोकरेंसी के लेटेस्ट रेट :

एक्सआरपी क्रिप्टोकरेंसी का इस वक्त क्वाइनडेस्क पर रेट 0.39016247 डॉलर का चल रहा है। इसमें इस वक्त 2.94 फीसदी की तेजी है। इस रेट पर एक्सआरपी क्रिप्टोकरेंसी की मार्केट कैप 39.01 बिलियन डॉलर है। बीते चौबीस घंटे के दौरान एक्सआरपी क्रिप्टोकरेंसी की अधिकतम कीमत 0.39 डालर और न्यूनतम कीमत 0.37 डॉलर रही है। जहां तक रिटर्न की बात है तो 1 जनवरी 2022 से अब तक एक्सआरपी क्रिप्टो करेंसी ने 52.59 फीसदी का निगेटिव रिटर्न दिया है। एक्सआरपी क्रिप्टो करेंसी की ऑलटाइम हाई कीमत 3.40 डॉलर रही है।

यह भी पढ़े : Career Horoscope : 27 June 2022 आर्थिक राशिफल : सप्ताह के पहले दिन इन राशियों के नौकरी व व्यवसाय से जुड़े मुद्दे होंगे हल, मंगल कार्यों की होगी खुशी

कार्डानो क्रिप्टोकरेंसी के लेटेस्ट रेट :

कार्डानो क्रिप्टोकरेंसी का इस वक्त क्वाइनडेस्क पर रेट 0.32929600 डॉलर का चल रहा है। इसमें इस वक्त 1.76 फीसदी की तेजी है। इस रेट पर कार्डानो क्रिप्टो करेंसी की मार्केट कैप 11.12 बिलियन डॉलर है। बीते चौबीस घंटे के दौरान कार्डानो क्रिप्टो करेंसी की अधिकतम कीमत 0.33 डालर और न्यूनतम कीमत 0.32 डॉलर रही है। जहां तक रिटर्न की बात है तो 1 जनवरी 2022 से अब तक कार्डानो क्रिप्टो करेंसी ने 74.78 फीसदी का निगेटिव रिटर्न दिया है। कार्डानो क्रिप्टो करेंसी की ऑलटाइम हाई कीमत 3.10 डॉलर रही है।

Share this:

राशिफल टुडे एक न्यूज वेबसाइट है जिस पर राशिफल, धर्म, पूजा, पर्व की खबरें प्रकाशित होती हैं। हमारा उद्देश्य लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा करना, लोगों की आवाज को जगह देना और स्वच्छ पत्रकारिता के साथ-साथ अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सुनिश्चित करना है।

रेटिंग: 4.52
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 186
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *