क्रिप्टो रोबोट

फोरेक्स भावना

फोरेक्स भावना

फोर्जेसिक एसपी टैबलेट / Forgesic SP Tablet in Hindi - प्रयोग

फोर्जेसिक एसपी टैबलेट / Forgesic SP Tablet - प्रयोग, फायदे, उपयोग और लाभ

फोर्जेसिक एसपी टैबलेट / Forgesic SP Tablet का प्रयोग निम्नलिखित बीमारियों, स्थितियों और लक्षणों के उपचार, नियंत्रण, रोकथाम और सुधार के लिए किया जाता है:

  • मांसपेशियों का दर्द
  • हड्डियों और जोड़ों का दर्द
  • सिरदर्द
  • आधासीसी
  • नाक के आसपास हवा की गुहाएं
  • गले में ख़राश
  • कान के संक्रमण
  • सूजन
  • रक्त के थक्के
  • दर्द और सूजन
  • मांसपेशियों में दर्द
  • पीठ दर्द
  • दांत का दर्द
  • मासिक धर्म सम्बन्धी ऐंठन
  • खेल सबंधी चोटें
  • जोड़ की अकड़न
  • वात-रोग के हमले
  • दांत दर्द
  • कान का दर्द
  • जोड़ दर्द
  • मासिक दर्द
  • बुखार
  • सर्दी
  • फ़्लू

समीक्षाएं - फोर्जेसिक एसपी टैबलेट / Forgesic SP Tablet प्रयोग

फोर्जेसिक एसपी टैबलेट / Forgesic SP Tablet के लिए TabletWise.com पर वर्तमान सर्वेक्षण के परिणाम निम्नलिखित हैं। ये परिणाम केवल वेबसाइट के प्रयोगकर्ताओं का अनुभव दर्शाते हैं। कृपया चिकित्सक या पंजीकृत चिकित्सा पेशेवर की सलाह पर ही अपने चिकित्सा निर्णय लें।

फोर्जेसिक एसपी टैबलेट / Forgesic SP Tablet - संचालन, क्रियाविधि, और दवा विज्ञान/वर्किंग, मैकेनिज्म ऑफ़ एक्शन एंड फार्माकोलॉजी

संबंधित लिंक

  • मांसपेशियों का दर्द के लिए फोर्जेसिक एसपी टैबलेट
  • हड्डियों और जोड़ों का दर्द के लिए फोर्जेसिक एसपी टैबलेट

फोर्जेसिक एसपी टैबलेट / Forgesic SP Tablet बारे में और जानें

  • फोर्जेसिक एसपी टैबलेट / Forgesic SP Tablet के क्या दुष्प्रभाव हैं?
  • कौन सी अन्य दवाएं फोर्जेसिक एसपी टैबलेट / Forgesic फोरेक्स भावना SP Tablet के साथ परस्पर क्रिया करती हैं?
  • आपको फोर्जेसिक एसपी टैबलेट / Forgesic SP Tablet कब नहीं लेना चाहिए?
  • फोर्जेसिक एसपी टैबलेट / Forgesic SP Tablet का प्रयोग करते समय आपको कौन सी सावधानियां बरतनी चाहिए?

अंतिम अद्यतन तिथि

संबंधित विषय

सिरदर्द

माइग्रेन

  • हमारे बारे में
  • गोपनीयता नीति
  • सेवा की शर्तें

इस पर प्रदान की गयी जानकारी केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए है। इसे चिकित्सा निदान, चिकित्सा सलाह या उपचार के लिए नहीं प्रयोग किया जाना चाहिए। हालाँकि, सामग्री की शुद्धता बनाये रखने के लिए हर संभव प्रयास किये गए हैं, लेकिन इसके लिए कोई गारंटी प्रदान नहीं की जा सकती है। इस साइट फोरेक्स भावना का प्रयोग अधीन है सेवा की शर्तें तथा गोपनीयता नीति। देखें अतिरिक्त जानकारी यहाँ।

दवा पर प्रदर्शित किये गए सर्वेक्षणों में और इस वेबसाइट के अन्य ऐसे पेजों पर व्यक्त किये गए विचार प्रतिभागियों के हैं और TabletWise.com के नहीं है।

महाकाल थाली विज्ञापन मामले में बैकफुट पर आई Zomato, मांगी माफी

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो (Zomato) के ऋतिक रोशन वाले महाकाल थाली वाले विज्ञापन (Mahakal Thali Ad) पर जमकर बवाल हुआ था। इसके बाद अब कंपनी ने बैकफुट पर आते हुए माफी मांग ली है। मीडिया के फोरेक्स भावना जरिए कंपनी ने कहा कि ऋतिक रोशन (Hritik Roshan) ने महाकाल रेस्टोरेंट्स थाली मंगाने की बात कही थी, ना कि महाकालेश्वर मंदिर से। विज्ञापन पर मंदिर के पुजारियों ने आपत्ति जताई थी और ट्विटर पर भी इसका विरोध करते हुए बायकॉट जोमैटो ट्रेंड चलाया गया था।

मामले में कंपनी का कहना है फोरेक्स भावना कि यह विज्ञापन उनके देश भर में चलाए जा रहे कैंपेन का हिस्सा फोरेक्स भावना है। इसमें वह हर शहर के चर्चित आउटलेट्स के मेनू को प्रमोट फोरेक्स भावना कर रहे हैं। महाकाल से थाली मंगवाने का मतलब महाकाल रेस्टोरेंट से था महाकालेश्वर मंदिर से नही। आगे कंपनी ने कहा कि हम उज्जैन की जनता की भावनाओं को कद्र करते हैं इसलिए विज्ञापन बंद कर दिया गया है। हम किसी की भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाना चाहते थे और हम इसके लिए माफी मांगते हैं।

महाकाल थाली विज्ञापन मामले में बैकफुट पर आई Zomato, मांगी माफी

इस मामले में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने उज्जैन एसपी को जांच करने के निर्देश दिए थे। उन्होंने यह भी कहा था कि वीडियो मॉर्फ्ड नजर आ रहा है। कंपनी के माफी मांगने के बाद यह साफ हो गया है कि यह विज्ञापन असली था। कंपनी ने इस बात की जानकारी दी है कि विज्ञापन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड है। जिसकी वजह से उपभोक्ताओं को उनके शहर के प्रमुख रेस्टोरेंट का नाम सुनाई देता है।

क्यों हुआ था विवाद?

बता दें कि इस विज्ञापन में ऋतिक रोशन ये कहते दिखाई दिए थे कि थाली का मन था। उज्जैन में है, महाकाल से मंगा लिया। इस बात का मंदिर के पुजारियों ने विरोध करते हुए कहा था कि मंदिर से किसी भी तरह की थाली कहीं भी डिलीवर नहीं की जाती है। कंपनी और ऋतिक रोशन को माफी मांगते हुए विज्ञापन को बंद करना चाहिए। पुजारियों ने ये भी कहा था कि हिंदू समाज सहिष्णु है, वो उग्र नहीं होता। दूसरा समुदाय अब तक कंपनी में आग लगा देता। कंपनी हिंदुओं की भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं करे।

महाकाल थाली विज्ञापन मामले में बैकफुट पर आई Zomato, मांगी माफी

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो (Zomato) के ऋतिक रोशन वाले महाकाल थाली वाले विज्ञापन (Mahakal Thali Ad) पर जमकर बवाल हुआ था। इसके बाद अब कंपनी ने बैकफुट पर आते हुए माफी मांग ली है। मीडिया के जरिए कंपनी ने कहा कि ऋतिक रोशन (Hritik Roshan) ने महाकाल रेस्टोरेंट्स थाली मंगाने की बात कही थी, ना कि महाकालेश्वर मंदिर से। विज्ञापन पर मंदिर के पुजारियों ने आपत्ति जताई थी और ट्विटर पर भी इसका विरोध करते हुए बायकॉट जोमैटो ट्रेंड चलाया गया था।

मामले में कंपनी का कहना है कि यह विज्ञापन उनके देश भर में चलाए जा रहे कैंपेन का हिस्सा है। इसमें वह हर शहर के चर्चित आउटलेट्स के मेनू को प्रमोट कर रहे हैं। महाकाल से थाली मंगवाने का मतलब महाकाल रेस्टोरेंट से था महाकालेश्वर मंदिर से नही। आगे कंपनी ने कहा कि हम उज्जैन की जनता की भावनाओं को कद्र करते हैं इसलिए विज्ञापन बंद कर दिया गया है। हम किसी की भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाना चाहते थे और हम इसके लिए माफी मांगते हैं।

महाकाल थाली विज्ञापन मामले में बैकफुट पर आई Zomato, मांगी माफी

इस फोरेक्स भावना मामले में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने उज्जैन एसपी को जांच करने के निर्देश दिए थे। उन्होंने यह भी कहा था कि वीडियो मॉर्फ्ड नजर आ रहा है। कंपनी के माफी मांगने के बाद यह साफ हो गया है कि यह विज्ञापन असली था। कंपनी ने इस बात की जानकारी दी फोरेक्स भावना है कि विज्ञापन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड है। जिसकी वजह से उपभोक्ताओं को उनके शहर के प्रमुख रेस्टोरेंट का नाम सुनाई देता है।

क्यों हुआ था विवाद?

बता दें कि इस विज्ञापन में ऋतिक रोशन ये कहते दिखाई दिए थे कि थाली का मन था। उज्जैन में है, महाकाल से मंगा लिया। इस बात का मंदिर के पुजारियों ने विरोध करते हुए कहा था कि मंदिर से किसी भी तरह की थाली कहीं भी डिलीवर नहीं की जाती है। कंपनी और ऋतिक रोशन को माफी मांगते हुए विज्ञापन को बंद करना चाहिए। पुजारियों ने ये भी कहा था कि हिंदू समाज सहिष्णु है, वो उग्र नहीं होता। दूसरा समुदाय अब तक कंपनी में आग लगा देता। कंपनी हिंदुओं की भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं करे।

देश का मिजाज: चीन के साथ तनाव से भारत कैसे निपटा? जनता ने दिया ये जवाब

देश का मिजाज: चीन के साथ तनाव से भारत कैसे निपटा? जनता ने दिया ये जवाब

aajtak.in

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 08 अगस्त 2020,
  • अपडेटेड 6:25 PM IST

आज तक ने देश का मिजाज टटोलने के लिए एक सर्वे किया है. सर्वे में लोगों से कई अहम सवाल पूछे गए. जिनमें से विदेश नीति से लेकर कोरोना संकट से मोदी सरकार कैसी निपटी पूछा गया. 69 फीसदी लोगों ने सर्वे में कहा कि चीन को मोदी सरकार ने सीमा पर करारा जवाब दिया है, वहीं 15 फीसदी लोगों ने कहा सही ढंग से जवाब नहीं दिया गया और 9 फीसदी लोगों ने जवाब में कहा कि सरकार ने जानकारी छुपाई है. देखें वीडियो.

69 percent of respondents polled in India Today-Karvy Insights Mood of the Nation survey said Narendra Modi government given a befitting reply to China, 15 percent said government not answered correctly, फोरेक्स भावना while 9 percent said Government hidden information. The survey comes at a time फोरेक्स भावना when India-China de-escalation going in the Ladakh area. 2020 China-India skirmishes left 20 Bravehearts soldiers in peace on June 15. Watch the video to know more.

रेटिंग: 4.19
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 877
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *